[बड़ा बदलाव] New SIM Rule 2023। डीलर के लिए पुलिस वेरिफिकेशन जरूरी

गुरुवार, दिनांक 17 अगस्त 2023 को दूरसंचार मंत्रालय (DOT) द्वारा जारी एक घोषणा के अनुसार अब सिम विक्रेताओं के लिए बायोमेट्रिक और पुलिस वेरिफिकेशन को अनिवार्य कर दिया गया है। इस नियम का उल्लंघन करने पर एक SIM dealer को ₹10 लाख तक का जुर्माना देना पड़ सकता है।

New SIM Rule 2023

दूरसंसचार मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव ने इसकी घोषणा गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में की। बताते चलें कि, भारत में विभिन्न प्रकार के fraud cases दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं। और भारत सरकार, दूरसंचार मंत्रालय के इस कदम को इस दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है।

बदलावों की इस कड़ी में भारत सरकार ने 52 लाख से भी ज्यादा अवैध रूप से लिए गए मोबाइल connections को बंद कर दिया है तथा साथ ही इसके लिए जिम्मेवार 67,000 से भी ज्यादा SIM Card डीलर्स को ब्लैकलिस्ट कर दिया गया है इनमें से 300 से भी ज्यादा Dealers के खिलाफ पहले से ही फ्रॉड के मामले दर्ज हैं।

Cyber Fraud से लड़ने के लिए May में हुए तीन महत्वपूर्ण बदलावों के अलावा हमने इसमें 2 अन्य बदलाव किए हैं, से अश्वनी वैष्णव ने कहा।”

नियम 1: SIM Vendors के लिए अनिवार्य वेरिफिकेशन


इस नियम के अनुसार अब प्रत्येक डीलर को अनिवार्य रूप से बायोमेट्रिक और पुलिस वेरिफिकेशन करवाना होगा। यह वेरिफिकेशन टेलीकॉम ऑपरेटर कंपनी, जैसे कि Jio, Airtel, के द्वारा किया जायेगा। इस नियम का उल्लंघन करने पर SIM Vendor से ₹10 लाख तक जुर्माने की वसूली की जा सकती है।
इसके अलावा बिजनेस यानी दुकान का भी KYC कराना अनिवार्य होगा।

मौजूदा SIM card डीलर्स को मिलेगा 12 महीनों का समय

सिम वेरिफिकेशन के नए नियमों को अपनाने के लिए मौजूदा सिम कार्ड डीलर्स को 12 महीनों का समय मिलेगा जिसमे वो अपने बिजनेस की KYC और पुलिस वेरिफिकेशन करा सकेंगे ।

New SIM Rules August 2023

नियम 2: बल्क रजिस्ट्रेशन सेवा में बदलाव


नए बदलावों के अनुसार अब बल्क सिम रजिस्ट्रेशन की जगह “बिजनेस कनेक्शन” की अवधारणा को लागू किया गया है । इसके अनुसार अब प्रत्येक कॉरपोरेट या किसी कंपनी के मालिक को नए connections देने से पहले उनका KYC verification किया जायेगा और साथ ही उस व्यक्ति या employee का भी KYC किया जायेगा जो किसी कंपनी के SIM card का उपयोग कर रहा है।
हालांकि, प्रत्येक आधार कार्ड पर 9 सिम कार्ड तक लिया जा सकेगा ।

Deptt of telecom के अनुसार इन बदलावों से फ्रॉड गतिविधियों को रोकने के में सहायता मिलेगी।

एक ही आधार कार्ड पर 658 SIM


जी हां, बिल्कुल सही पढ़ा आपने। आए दिन देश में ऐसे ऐसे मामले देखने को मिल रहे हैं जिसमे एक ही आधार कार्ड पर 9 से अधिक SIM पंजीकृत किए गए हैं। नए बदलावों के तहत ऐसे सभी सिम कार्ड्स की पहचान कर उनको बंद करने का काम किया जायेगा।

भारत सरकार द्वारा पिछले बदलावों की कड़ी में संचार साथी नाम से पोर्टल शुरू किया गया था जिसपर एक उपयोगकर्ता चोरी हुए या को गए मोबाइल फोन की रिपोर्ट दर्ज करा सकता है।

AI आधारित ASTR system


संचार साथी पोर्टल के साथ साथ, गैरकानूनी तरीके से पंजीकृत किए गए मोबाइल नंबर्स की पहचान करने और उन्हें बंद करने के लिए भारत सरकार ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित सॉफ्टवेयर ASTR को भी प्रयोग में लाया है।

किसी भी सवाल के लिए हमें संपर्क करें

References:

NDTV

Amarujala

FAQs – अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

New SIM Rule 2023 क्या है ?

New SIM Rule 2023 के अनुसार 17 अगस्त 2023 को सिम कार्ड के नियमों में कुछ बदलाव किये गए हैं जिसमें 2 सबसे बड़े बदलाव हैं
SIM Card डीलर्स के लिए पुलिस वेरिफिकेशन अनिवार्य
Bulk Registration के लिए बिज़नेस के KYC के साथ साथ सिम उपयोगकर्ता की KYC भी अनिवार्य होगी।
ये बदलाव Cyber Fraud को रोकने के लिए किये गए हैं

Leave a Comment